MAI-T1

  • 10 Dec 2019
Tags :

मेरी टी. जे. रानी,


कितनी हैं सुहानी,


बड़ी हैं सयानी,


करती हैं मनमानी,


धूप से भी तेज़ है आपकी चतूर ज़ूबानी,


हम्मसध्वनी से भी मीठी हे आपकी वानी,


आप हैं सबसे बुधीमानी,


दूर करती हैं आप सबकी परेशानी,


खेल-कूद की हैं आप दीवानी,


पर अच्छा नहीं लगता आपको बारिष का पानी|


सबसे हे नादानी,


आप देतें हैं सबको इतना सारा प्यार,


कि वही प्यार से भर गया हे ये सारा सनसार|


शुक्रीया, मुझ पर करतीं हैं आप मेहरबानी,


आप हैं मेरी ज़िदगानी,


मैं हूँ आपकी क़दरदाऩी,


आपकी हर खूशी मेरी ज़िम्मेवानी,


आपके लिये मेरी हर कुरबानी,


मेरी प्यारी बेबी जानी,


माहाकाली माता मेरी,


मेरी टी. जे. रीनी|

Comments( 0 )
  • No comment found

Leave A Review